“ॐ नमः शिवाय” महामंत्र का अर्थ क्या है ?

 
       नमस्कार दोस्तो स्वागत है आप सभी का आज हम एक महत्वपूर्ण धार्मिक विषय पर चर्चा करेंगे। जैसा कि दोस्तो हम सभी जानते है परंपरागत दृष्टि से भारत में 33 करोड देवी-देवता प्रचलित है। धार्मिक दृष्टि से भारत विश्व का नं १ धर्मष्व देश माना जाता है।

      दोस्तो आज हम बात करेंगे हिन्दुओ में सबसे ताकतवर और शक्तिशाली मंत्र जाप माने जाने वाले एक ऐसे मंत्र जप के बारे में जिसके सुनने बोलने मात्र से ही मन को शांति और सुकुन मिलती है। दोस्तो यह मंत्र पूर्ण रूप से भगवान शिव को अर्पित है। यह मंत्र है “ॐ  नमः शिवाय”। आइये जानते है इस मंत्र का सही अर्थ क्या होता है।

        दोस्तो भारत ही नही अपितु अन्य देशो में भी यह मंत्र प्रचलित है। यह मंत्र शैव सम्प्रदाय से लिया गया है। दोस्तो ॐ  नमः शिवाय का शाब्दिक अर्थ होता है “मै  एक आत्मा भगवान शिव को नमस्कार करता हु”। इस मंत्र का व्याख्यान सीमित शब्दो में नही किया जा सकता क्योंकि इसका अर्थ विस्तृत होता है। दोस्तो इस मंत्र में इतनी शक्ति होती है कि अगर इस मंत्र का जप सही तरीके से किया जाए तो मन को शांति और सुकुन मिलती है। इसीलिए तो दोस्तो किसी भी यज्ञ एवं धार्मिक उत्सवो में इस मंत्र का बार-बार जप किया जाता है। ऋषि मुनियो ने भी इस मंत्र का उच्चारण करके ध्यान केंद्रित किया एवं सिध्दि प्राप्त की। ध्यान केंद्रित करने के लिए इसी मंत्र को सबसे उत्तम माना गया है।

       दोस्तो अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तो के साथ भी शेयर करिये और हमारे फेसबूक पेज को लाइक करिये ऐसी ही चटपटी आर्टिकल्स के लिए....




Share:

3 comments:

Like Us on Facebook

Followers

Blog Archive

Recent Posts