जानिए ऐसे पेड़ के बारे में जो देता है ४० अलग अलग फल


          दोस्तो आज हम आपको एक मजेदार और रोचक जानकारी देने वाले है। दोस्तो बचपन में आपने ऐसी बहुत सारी कहानी या कविताऐ  सुनी होगी जिसमें कहा जाता था कि एक ही वृक्ष में तरह - तरह के फल लगे हुए है जैसे कि आम के वृक्ष में आम के फल के अलावा बेर, आलू बुखारा, चेरी आदि अनेक फल लगे हुए है। यह सब अटपटी बाते हमे सिर्फ कहानी और किताबो में पडने - सुनने को मिलता था लेकिन विज्ञान ने इन कहानी और कविताओ की बातो को सत्य साबित कर दिया है। जी हां दोस्तो विज्ञान और तकनीकी की बदौलत यह संभव है कि अब एक ही वृक्ष से अनेक प्रकार के फल प्राप्त किए जा सकते है। आइये जानते है यह कैसे संभव है।

    कवि श्री प्रसाद जी ने लिखा है -
    पौधा तो जामुन का ही था
   लेंकिन आये आम,
  पर जब खाया, तब यह पाया
  ये तो है बादाम

         दोस्तो ऐसी काल्पनिक कविताऐ आज विज्ञान की बदौलत सत्य साबित हो रही है। साइराक्यूज विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर पद पर पदस्थ एक अमेरिकी प्रोफेसर जिसका नाम सैम वैन ऐकेन है ने ईडन प्रोजेक्ट के तहत एक ऐसा वृक्ष बनाया है जो सामान्य वृक्षो से बिल्कुल अलग है क्योंकि यह एक वृक्ष 40 प्रकार के फल दे सकता है।  आइये जानते है प्रोफेसर ऐकेन ने इस काल्पनिक सोच को सत्य में कैसे परिवर्तित किया। इस वृक्ष को ऐकेन ट्री के नाम से जाना जाता है। 

              प्रोफेसर ऐकेन और विज्ञान के अनुसार जब पेड नवयुवा अवस्था में हो तो उसकी एक शाखा  तोडकर ज्वाइंट वाले स्थान को खुरचकर छोटा गड्ढा बनाकर इसमें दूसरे युवा वृक्ष की बडी ताजी कलम डालकर उस स्थान को पट्टियो से बांध  दो। कुछ समय पपश्यात  यह कलम आपस में जुड जायेगी। यही क्रम अन्य फलीय वृक्षो की कलम काटकर बार बार दोहराते जाओ। परन्तु ध्यान रहे की यह सफलता सिर्फ गुठली वाली फलो में मिली है। गुठली वाली फल जैसे चेरी, आलू बुखारा, आडू, खुबानी तथा आदि अन्य गुठली वाले फल है।  

             तो दोस्तो अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तो के साथ भी षेयर करिये और हमारे फेसबूक पेज को लाइक करिये ऐसी ही चटपटी आर्टिकल्स के लिए....... 


     

Share:

3 comments:

Like Us on Facebook

Followers

Follow by Email

Blog Archive

Recent Posts