• जानिये फांसी देने के पूर्व कैदी के कान में जल्लाद क्या कहता है... ईनाम...

    नमस्कार दोस्तो आज हम आपको ले जायेंगे एक ऐसे रहस्य की ओर जिसको आप भी जानना चाहेंगे, दोंस्तो अक्सर आपने फिल्मो मे देखा होगा या कहीं से सुना होगा की किसी अपराधी को फंासी पर चढाने के पूर्व जल्लाद कैदी के कानो मे कुछ कहता है। तो दोस्तो आज हम आपको इस रहस्य से वाकिफ कराना चाहेंगे । नको ईनाम भी दिया जाता है।

  • माउण्ट एवरेस्ट फतह करने वाली दुनिया की पहली ट्विन्स

    दोस्तो आज हम बात करेंगे माउण्ट एवरेस्ट फतह करने वाली दुनिया की पहली ट्विन्स के बारे में। दोस्तो माउण्ट एवरेस्ट फतह करने वाली दुनिया की पहली ट्विन्स लडकियाॅ थी।

  • जानिए दुनिया में जन्म लेने वाला पहेला इंसान कौन था...

    नमस्कार दोस्तो, हर कोई जानना चाहता है की दुनिया में जन्म लेने वाला पहेला इंसान तो आइये आज हम जानते है हमारे अस्तित्व के बारे मे, आइये जानते है हमारे इतिहास को । इसके अलावा आज हम आपको बतायेंगे उस महिला के बारे मे जिसने दुनिया पर पहली बार बच्चा पैदा किया।

भारत की इस झील में दफ़न है अरबों का खज़ाना...

    नमस्कार दोस्तो, दोस्तो आपने बहुत सारे सुंदर और रहस्यमयी नदियों, झीलो और समुद्रो के बारे में तो सुना ही होगा। आज हम आपको एक ऐसी ही रहस्यमयी झील के बारे में बतायेंगे जिसके अंदर कई अरबो रू. का खाजाना दफन है। जिसे आसानी से देखा जा सकता है। दोस्तो यह झील कुछ ज्यादा ही अद्भुत प्रकार का है क्योंकि इन खाजानो को कोई भी मनुश्य हाथ भी नहीं लगा सकता क्योंकि इनके रक्षक स्वयं नाग देवता होते है। आइये जानते है इस रहस्यमयी झील के बारे में विस्तार से।

   हिमांचल प्रदेश के पहाड़ो में स्थित कमरूनाग झील पूरे साल में 14 और 15 जून को ही खुलता है। यह कमरूनाग झील कमरूनाग देवता के मंदिर के पास ही स्थित है। इस झील में अरबो रू. का खाजाना छिपा हुआ है जिसे हम असानी से देख सकते है। दोस्तो अब प्रश्न यह उठता है कि इस झील में इतने सारे रू.-खाजाने कहा से आए़? और इन खाजानो को कोई अपने साथ क्यों नहीं ले जा सकता? आइये दोस्तो जानते है इन सभी सवालो के जवाब।





   कमरूनाग मंदिर में हर वर्ष मेला लगता है जिसमें बहुत सारे भक्त आते है। सदियों से चली आ रही मान्यता है कि इस झील में साने-चाॅदी या रूपये-पैसे डालने से मनोकामना पूर्ण होती है। इस कारण सभी भक्त इस झील में सोने-चाॅदी आदि चढ़ाते है। माना जाता है कि सदियो से चली आ रही इसी परम्परा के कारण कमरूनाग झील में अरबो का खाजाना जमा हो गया है। ऐसा भी माना जाता है कि यह सभी खाजाना देवताओं का है और यह झील पाताल लोक से जुड़ा हुआ है। दोस्तो इस खाजाने को हम देख तो सकते है परन्तु उसे अपने साथ नहीं ले जा सकते क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इस खाजाने की रक्षा स्वयं नाग देवता करते है। ऐसी मान्यता है कि इस झील वाले क्षेत्र में नाग देवता है जो स्वयं इन खाजानो की रक्षा करते है।

   दोस्तो अगर यह आर्टिकल आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तो के साथ भी शेयर करिये और हमारे फेसबूक पेज को लाइक करिये ऐसी ही चटपटी आर्टिकल्स के लिए... 
Share:

Like Us on Facebook

Followers

Follow by Email

Recent Posts